prime minister of india

Prime Minister narendra modi biography election

Prime Minister narendra modi

Prime Minister narendra modi प्रधानमंत्री क्यू होता है 

संविधान में कहा गया है कि राष्ट्रपति को राजकीय कार्यों में सहायता और मंत्रणा देने के लये मंत्रिपरिषद होगी, जिसका प्रमुख प्रधानमंत्री होगा. संविधान के अनुसार Prime Minister appointment राष्ट्रपति के निर्णय और चुनाव पर निर्भर है, किन्तु व्यवहार में राष्ट्रपति का यह अधिकार अत्यधिक सीमित है. भारत में संसदीय पद्धति की सरकार स्थापित की गई है. अतः, यहाँ के प्रधानमंत्री की स्थिति इंगलैंड के प्रधानमंत्री के सामान है. Prime Minister narendra modi

prime minister of india

सच पूछा जाए तो वह अत्यंत ही शक्तिशाली व्यक्ति है और देश का वास्तविक शासक है. राष्ट्रपति उसी व्यक्ति को प्रधानमंत्री के पद पर नियुक्त करता है, जो लोक सभा में बहुमत दल का नेता होता है. यदि राष्ट्रपति ऐसे व्यक्ति को Prime Minister नियुक्त नहीं करे और अपने इच्छानुसार संसद के किसी सदस्य को नियुक्त कर ले, तो जनता और संसद का बहुमत दल उसकी नियुक्ति का विरोध करेंगे. परिणाम यह होगा कि नियुक्त व्यक्ति मंत्रिपरिषद गठित करने एवं शासन-कार्य संचालन में असमर्थ होगा. चूँकि राष्ट्रपति का कर्तव्य सुदृढ़ सरकार स्थापित करना है, इसलिए वह बहुमत दल के नेता को ही प्रधानमंत्री नियुक्त करेगा.Prime Minister

Prime Minister प्रधानमंत्री पद के लिए योग्यता

Also read : प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना 2019

  • संविधान के अनुसार, Prime Minister को संसद का अनिवार्यतः सदस्य होना चाहिए
  • उसकी आयु कम से कम 25 वर्ष होनी चाहिए (prime minister minimum age).
  • प्रधानमंत्री लोक सभा या राज्य सभा दोनों में किसी एक का सदस्य हो सकता है.

यद्यपि प्रजातंत्रात्मक पद्धति के अनुसार Prime Minister को लोक सभा का ही सदस्य होना चाहिए, तथापि कुछ परिस्थितियों के कारण यदि राज्य सभा का भी सदस्य प्रधानमंत्री हो जाता है तो यह संविधान के विरुद्ध नहीं माना जा सकता. 1967 ई. के आम निर्वाचन के पूर्व श्रीमती इंदिरा गाँधी को राज्य सभा की सदस्या होते हुए भी Prime Minister नियुक्त किया गया था. मनमोहन सिंह भी राज्य सभा के ही सदस्य थे.

Also read : GSP Program

Prime Minister प्रधानमंत्री के कार्य और अधिकार

प्रधानमंत्री मंत्रिपरिषद का निर्माता होता है, अतः उसका स्थान अत्यंत ही महत्त्वपूर्ण है. उसकी महत्ता और शक्ति का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि मंत्रिपरिषद के अस्तित्व में आने के पूर्व ही उसकी नियुक्ति होती है. उसी के परामर्श से राष्ट्रपति अन्य मंत्रियों को नियुक्त करता है. उसके कार्य निम्नलिखित हैं –

prime minister of india

  • प्रधानमंत्री Prime Minister मत्रिमंडल के निर्माण के लिए अपने दल के सदस्यों के नाम राष्ट्रपति के समक्ष प्रस्तुत करता है, राष्ट्रपति उन्हीं व्यक्तियों को मंत्रिमंडल में सम्मिलित करता है
  • प्रधानमंत्री Prime Minister ही अपने मंत्री के विभाग का चयन करता है | वह आवंटित विभाग में परिवर्तन भी कर सकता है
  • प्रधानमंत्री Prime Minister मंत्री परिषद् की बैठक की अध्यक्षता करता है तथा बैठक में लिया गया निर्णय प्रधानमंत्री से प्रभावित होता है
  • प्रधानमंत्री Prime Minister किसी मंत्री को त्यागपत्र देने या उसे बर्खास्त करने की सलाह राष्ट्रपति को दे सकता है
  • प्रधानमंत्री Prime Minister सभी मंत्रियों की गतिविधियों को नियंत्रित और निर्देशित भी करता है
  • प्रधानमंत्री Prime Minister अपने पद से त्यागपत्र देकर पूरे मंत्रिमंडल को बर्खास्त करके लोकसभा भंग करने की सलाह राष्ट्रपति को दे सकता है

Also read : kajal aggarwal biography

कार्य Prime Minister narendra modi 

  • योजना आयोग, राष्ट्रीय विकास परिषद्, राष्ट्रीय परिषद् और अंतरराज्यीय परिषद् के पदों का अध्यक्ष प्रधानमंत्री होता है |
  • कैबिनेट की बैठकों की अध्यक्षता प्रधानमंत्री के द्वारा की जाती है |
  • केंद्र सरकार का मुख्य प्रवक्ता प्रधानमंत्री ही होता है |
  • देश की सेनाओं का राजनैतिक प्रमुख प्रधानमंत्री होता है |
  • राष्ट्र के हित में विदेश नीतियां तैयार करने का कार्य प्रधान मंत्री के द्वारा ही किया जाता है |
  • सत्ताधारी दल का प्रमुख नेता होता है |
  • मंत्रियों के विभागों का विभाजन करता है तथा मंत्रिपरिषद् की बैठकों की अध्यक्षता प्रधानमंत्री करता है |
  • मंत्रिपरिषद् का गठन, परिवर्तन, विभागों का बंटवारा करने का कार्य तथा मंत्रिपरिषद् के मध्य समन्वय का कार्य प्रधान मंत्री द्वारा ही किया जाता है |
  • राष्ट्रपति को मंत्रिपरिषद् के निर्णयों की सूचना प्रदान करने का कार्य प्रधानमंत्री करता है |

Also read : anthony russo Brothers American film directors

Prime Minister narendra modi

  • प्रमुख नीतियों का निर्माण तथा उन्हें कार्यान्वित करने का कार्य प्रधानमंत्री के द्वारा किया जाता है |
  • संसद में सरकार का पक्ष प्रस्तुत करने का अधिकार प्रधानमंत्री रखता है |
  • अंतरराष्ट्रीय तथा अन्य महत्वपूर्ण मंचों पर भारत की नीतियाँ स्पष्ट करने का अधिकार प्रधानमंत्री के पास होता है |
  • अतिम महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति हेतु राष्ट्रपति को परामर्श करने का अधिकार होता है |
  • प्रधानमंत्री यदि लोकसभा का सदस्य है तो वह लोकसभा का नेतृत्व करेगा और यदि राज्यसभा का सदस्य है तो वह राज्यसभा का नेतृत्व करेगा |
  • प्रधानमंत्री अपने मंत्रिमण्डल के सदस्यों को विभागो को बाँटने का कार्य करता है तथा किसी मंत्री को एक विभाग से दूसरे विभाग में स्थांतरित करने का भी अधिकार रखता है |
  • प्रधानमंत्री मंत्रिमण्डल का प्रधान होता है यदि उसकी मृत्यु हो जाती है या फिर वह त्यागपत्र देता है तो संविधान के नियमानुसार मंत्रिमण्डल का विघटन हो जाता है |

2 thoughts on “Prime Minister narendra modi biography election

Leave a Reply

Your email address will not be published.